Monday, October 29, 2007

चिट्ठाजगत संकलक की आचार संहिता

१. चिट्ठाजगत संकलक, हिंदी में लिखे सभी चिट्ठों को शामिल करेगा और प्रदर्शित करेगा। चिट्ठे की सामग्री या उसके स्वामी के आधार पर कोई पक्षपात न तो कभी करता था और न करता है न कभी करेगा।

२. चिट्ठाजगत संकलक, प्रयोक्ताओं की निजी डाक (chitthajagat ऍट chitthajagat डॉट in) व सार्वजिनक डाक (dakiya डॉट peti ऍट chitthajagat डॉट in) में वर्णित समस्याओं पर प्रतिक्रिया ७२ घंटे के अंदर करेगा।

३. चिट्ठाजगत संकलक सभी प्रकार की प्रतिक्रियाओं का स्वागत करेगा, चाहे वह सुझाव हो या आलोचना। प्रयोक्ताओं की प्रतिक्रियाओं के प्रति हमारा रवैया हमेशा आदरपूर्ण और प्रासंगिक रहेगा व उनमें मौजूद व्यक्तिगत आक्षेपों को नज़रंन्दाज़ किया जाएगा, न ही जवाब में कोई व्यक्तिगत आक्षेप किया जाएगा। हमारा प्रयास बस यही रहेगा कि मुद्दे की तह तक जा कर उसे सुलझाया जाए, और सरल हिंदी में सारी जानकारी का आदान प्रदान हो।

४. चिट्ठाजगत संकलक कभी भी फ़र्ज़ी पहचान या बेनामी पहचान बना के किसी भी चिट्ठा लेखक या पाठक को परेशान न तो कभी करते थे, न करते हैं और न करेंगे। चिट्ठाजगत संकलक किसी और को परेशान कर के अपने हितों को साधने के लिए साधन(धन, सामग्री, मानव) न तो मुहैय्या कराता था, न करता है और न कभी कराएगा। केवल खुद इस तरह के काम न करना ही पर्याप्त नहीं है, अन्यों के द्वारा ऐसे काम होने पर उन्हें सामने लाना भी आवश्यक है, अतः चिट्ठाजगत संकलक निडर हो के ऐसी गतिविधियों का सार्वजनिक खुलासा करेगा। इन खुलासों में गतिविधियों का शालीन रूप से वर्णन होगा ताकि अन्य लोग सजग रहें, किंतु किसी व्यक्ति विशेष पर आक्षेप नहीं होगा।

५. चिट्ठाजगत संकलक किसी के द्वारा प्रेषित निजी डाक को बिना अनुमति अग्रेषित नहीं करता था, नहीं करता हैं और न ही कभी भविष्य में करेगा। चिट्ठाजगत संकलक कभी भी किसी और के नाम से फ़र्ज़ी डाक नहीं भेजता था, न भेजता है और न ही भेजेगा। यदि चिट्ठाजगत संकलक के नाम से भेजी फ़र्ज़ी डाक की सूचना चिट्ठाजगत संकलक को मिलती है तो वह भारतीय दंड सहिता के अंतर्गत कार्यवाही करेगा।

६. चिट्ठाजगत संकलक अपने प्रयोक्ताओं की जानकारी गोपनीय रखता था, रखता है और रखता रहेगा। चिट्ठाजगत संकलक प्रयोक्ताओं की कृतियों के सर्वाधिकारों व बौद्धिक संपत्ति का आदर करेगा। किसी भी चिट्ठे को उसके स्वामी की इच्छा के विरुद्ध चिट्ठाजगत संकलक से न कभी हटाया गया था न हटाया जायेगा। यदि कोई प्रयोक्ता अपनी प्रविष्टि या चिट्ठा चिट्ठाजगत संकलक से हटवाना चाहता है तो इस स्वैच्छिक निकास का आदर होगा।

७. चिट्ठाजगत संकलक भेड़िया आया से बचेगा, और न ही ऐसे गड़रियों को गुड़ खिलाएगा। हाँ, सकारात्मक चर्चा के लिए चिट्ठाजगत-संकलक की डाक पेटी हमेशा खुली है।

८. चिट्ठाजगत संकलक तकनीकी जानकारी के आदान प्रदान, सहयोग, और खुलेपन के प्रति हमेशा अग्रसर रहेगा क्योंकि पाठकों, लेखकों और औज़ारों के प्रसार के साथ ही चिट्ठाजगत संकलक का प्रसार जुड़ा ही नहीं है बल्किल एकदम गुत्थमगुत्था है।

९. चिट्ठाजगत संकलक यदि किसी से आर्थिक सहायता लेता है तो वह इसी शर्त पर होगी कि यह सहायता उपरोक्त आठ बिंदुओं के पालन में बाधक न हो।

१०. चिट्ठाजगत संकलक कोई भी बदलाव या नई सुविधा जोड़ने से पहले उपरोक्त सभी बिंदुओं की समीक्षा करेगा, और बदलाव तभी लागू होगा जब वह उपरोक्त कसौटियों पर खरा उतरे। धड़ाधड़ता और सुन्दरता, इस आचार संहिता के अधीन ही आएँगी, इसे ताक पर रख कर नहीं।

इस आचार संहिता के उल्लंघन संबंधी ब्यौरा उपरोक्त डाक पतों पर दिया जा सकता है।

आचार संहिता पर टिप्पणी यहाँ करें और यहाँ देखें